इस मंदिर में 20,000 चूहे रहते हैं यदि आप 20,000 चूहों को चढ़ाए गए प्रसाद को खाते हैं और मंदिर में सफेद चूहा देखते हैं, तो आपके सभी मानसिक कार्य पूरे होंगे।

इस मंदिर में 20,000 चूहे रहते हैं यदि आप 20,000 चूहों को चढ़ाए गए प्रसाद को खाते हैं और मंदिर में सफेद चूहा देखते हैं, तो आपके सभी मानसिक कार्य पूरे होंगे।

राजस्थान जितना खूबसूरत है उतना ही आकर्षक भी। आज हम आपको राजस्थान के एक ऐसे मंदिर के बारे में बताएंगे जो अपनी अनूठी परंपरा के कारण देश-विदेश में प्रसिद्ध है। क्योंकि इस मंदिर में भक्तों की ओर से काफी संख्या में चूहे नजर आते हैं। इस मंदिर में चूहों को पवित्र माना जाता है और यहां दर्शन के लिए आने वाले भक्तों द्वारा उन्हें दूध और लड्डू का प्रसाद चढ़ाया जाता है।

यह मंदिर करणी माता का है और बीकानेर से 30 किमी दूर स्थित है। बीकानेर में करणी माता मंदिर 20,000 से अधिक चूहों का घर है। इस मंदिर में जितने भी भक्त आते हैं। उन्हें चूहों द्वारा खाई हुवी प्रसादी दी जाती है। चमत्कारी बात यह है कि मंदिर में इतने चूहे होने के बावजूद भी बदबू नहीं आती है।

आज तक इस मंदिर में चूहों से कोई बीमारी नहीं फैली है। इस मंदिर की मान्यता है कि चूहों के आठ प्रसाद खाने से भक्तों की मनोकामना अवश्य पूरी होती है और यदि आप इस मंदिर में दर्शन के लिए जाते हैं और इन 20 हजार काले चूहों में सफेद चूहे दिखाई देते हैं। तो आपका मानसिक कार्य निश्चित रूप से हो गया है।

इस मंदिर में मौजूद चूहों को कावा कहा जाता है और भक्तों द्वारा मां को दिया जाने वाला प्रसाद। इसे पहले चूहों को चढ़ाया जाता है और फिर वही प्रसाद भक्तों में बांटा जाता है। इस मंदिर की ख्याति भारत ही नहीं विदेशों में भी फैली हुई है। विदेश से आने वाले पर्यटकों को भी इस मंदिर के दर्शन करने की आवश्यकता होती है।

admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *