1 जनवरी को हुआ बवाल तो मैदान पर ही मच गई भगदड़, फैंस ने खिलाड़ियो का बाहर जाना कर दिया था मुहाल

1 जनवरी को हुआ बवाल तो मैदान पर ही मच गई भगदड़, फैंस ने खिलाड़ियो का बाहर जाना कर दिया था मुहाल

साल 2023 का आज आगाज हुआ है, आज 1 जनवरी है. आज का दिन सबके हार एक इंसान के लिए खास होता है. सब जश्न मनाते हैं मजे करते हैं. आज के दिन क्रिकेट की दुनिया का पुराना किस्सा है जिसे आज भी हर कोई याद करता है. ये किस्सा है 56 साल पहले साल 1967 का. आज ही के दिन भारत और वेस्टइंडीज के बीच साल 1967 में टेस्ट सीरीज खेली जा रही थी जिसका दुसरा मुकाबला था.

ये मुकाबला कोलकाता के ईडन गार्डन में खेला जा रहा था. दूसरे टेस्ट की शुरुवात 31 दिसंबर 1966 को हुई थी और 1 जनवरी 1967 को इस मैच का दूसरा दिन था. इस दिन मैदान में कुछ ऐसा हुआ जिसका अंदाजा किसी ने नहीं लगाया था लेकिन जो हुआ उसे हार कोई दहल गया था. चलिए जानते हैं पूरा वाक्य.

क्या हुआ था बवाल

1 जनवरी को दुनिया में हर इंसान घूमता फिरता मौका मस्ती करता है. कुछ ऐसा ही उस साल भी देखने मिला था जब 1 जनवरी को भारत की भीड़ ईडन गार्डन में मैच देखने पहुंच गई थी. फैंस के बीच क्रेज था और भिड़ इस कदर बढ़ गई थी की कुछ लोगों को तो मैदान की बाउंड्री के पास तक अबीथे देखा गया था. ऐसा होने के पीछे का कारण था स्टेडियम मैनेजमेंट के जरूरत से ज्यादा टिकट काटने की वजह से.

भिड़ के कारण मैदान में अफरा तफरी मच गई थी और सुरक्षा कर्मियों में लाठी चार्ज कर दिया था. लाठी चार्ज ने भीड़ को और भड़काने का काम किया और सुरक्षा कर्मियों और भिड़ में मौजूद दर्शकों की आपस में भिड़त हो गई. धीरे धीरे बवाल इतना बढ़ गया की दर्शकों ने स्टेडियम में तोड़ फोड़ करना शुरू किया और आगजनी भी शुरू हो गई थी.
इसी के चलते दूसरा मैच रद्द करना पड़ गया था.

वेस्टइंडीज ने दी थी भारत को हार

भारत बनाम वेस्टइंडीज के बीच खेले गए इस टेस्ट सीरीज की बात करें तो वेस्टइंडीज ने भारतीय टीम को एक पारी में और 45 रनों से मात देते हुए सीरीज में जीत हासिल कर ली थी. वेस्टइंडीज की ओर से पहले बल्लेबाजी करते हुए 390 रन जड़े थे.

वहीं जवाब में भारतीय टीम ने पहली पारी में महज 167 रन जड़े थे और ऑलराउंट हो गई थी. वहीं दूसरी पारी में भी भारतीय टीम को भारी तरह हार का सामना करना पड़ा था.

admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *