‘धोनी लेने वाले हैं संन्यास 1 साल पहले मुझे और ऋषभ पंत को था पता’, पूर्व फील्डिंग कोच ने किया खुलासा

‘धोनी लेने वाले हैं संन्यास 1 साल पहले मुझे और ऋषभ पंत को था पता’, पूर्व फील्डिंग कोच ने किया खुलासा

भारतीय टीम के पूर्व कप्तान और बेहतरीन बल्लेबाज रहे महेंद्र सिंह धोनी आज भी सुर्खियों में ही नजर आते हैं। एमएस धोनी सोशल मीडिया से दूर है लेकिन उनके कई ऐसे किस्से हैं जो आज भी याद किए जाते हैं साल 2019 में एमएस धोनी ने आखिरी इंटरनेशनल वर्ल्ड कप खेला था। इस मैच के बाद सभी ने कयास लगाए थे कि धोनी का आखिरी असाइनमेंट है।

लेकिन ऐसा नहीं हुआ। साल 2019 के वर्ल्ड कप के लिए एमएस धोनी इंग्लैंड गए थे और भारतीय दल के दो सदस्यों को पता था कि धोनी का आखिरी मैच कौन सा है। आइए जानते हैं कि वह दो क्रिकेटर कौन से हैं जिनको धोनी के आखिरी मैच के बारे में जानकारी थी।

किताब में धोनी के आखिरी मैच का किया खुलासा: धोनी के आखिरी मैच के बारे में जाने वाले कोई और नहीं बल्कि भारतीय विकेटकीपर और बल्लेबाज ऋषभ पंत के साथ-साथ फील्डिंग कोच आर श्रीधर थे। कुछ इधर ने अपनी किताब ‘कोचिंग बियोंड: माय डेज विद द इंडियन क्रिकेट टीम’ में इस बात का खुलासा किया है कि ऋषभ पंत और उनको इस बात के बारे में जानकारी थी कि वर्ल्ड कप 2019 का सेमीफाइनल का फाइनल मैच एमएस धोनी का आखिरी इंटरनेशनल मैच होगा।

साल 2019 के वर्ल्ड कप के दौरान टीम इंडिया सेमीफाइनल में न्यूजीलैंड से हार गई थी और इसके बाद से धोनी कभी भी अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में खेलते हुए नजर नहीं आए।

किताब में बातचीत का क्या जिक्र: श्रीधर ने अपनी किताब में इस बात का भी जिक्र किया है कि मुकाबले से पहले श्रीधर एमएस धोनी और ऋषभ पंत के बीच एक छोटी बातचीत भी हुई थी। साल 2019 के वर्ल्ड कप के बाद वेस्टइंडीज दौरे के समय फील्डिंग कोच के पद के लिए श्रीधर ने एक इंटरव्यू भी दिया था। इंटरव्यू के दौरान श्रीधर ने कहा था कि धोनी ने आखिरी मैच खेल लिया है इसलिए उन्होंने ऋषभ पंत की तारीख की थी। इसके बाद उन्होंने किताब में भी इस बात का जिक्र किया कि,

“अब मैं बता सकता हूं कि बीसीसीआई को दिए इंटरव्यू के समय जिसमें मैंने एंटीगा से शिरकत की थी। मैं पूरी तरह से निश्चित था कि धोनी ने देश के लिए अपना आखिरी मैच खेल लिया है। बेशक उन्होंने इसकी घोषणा नहीं की थी लेकिन मैं आपको बताऊंगा कि मुझे क्या पता था।”

श्रीधर ने अपनी किताब में आगे लिखा कि,: “मैनचेस्टर में न्यूजीलैंड के खिलाफ हमारे विश्व कप सेमीफाइनल में रिजर्व डे की सुबह मैं ब्रेकफास्ट हॉल में पहला व्यक्ति था और मैं कॉफ़ी तैयार कर रहा था जब एमएस धोनी और ऋषभ पंत सामने आए और अपना सामान उठाया और मेरी टेबल पर आ गए। न्यूजीलैंड के पास बल्लेबाजी करने के लिए केवल कुछ ओवर थे और हमें उसके बाद अपनी पारी शुरू करनी थी इसलिए पता था कि मैच काफी जल्दी समाप्त हो जाएगा इसी वजह से ऋषभ ने धोनी से हिंदी में कहा भैया कुछ लड़के आज ही अकेले लंदन जाने की योजना बना रहे हैं। क्या आपको दिलचस्पी है! धोनी ने जवाब दिया नहीं, ऋषभ मैं टीम के साथ अपनी आखिरी बस ड्राइव को मिस नहीं करना चाहता। मैंने इस बातचीत के बारे में किसी से एक शब्द भी उस आदमी के प्रति सम्मान के कारण नहीं कहा।”

श्रीधर ने किताब में आगे लिखा कि,: “महेंद्र सिंह धोनी ने मुझे विश्वास में लिया था मैं अपना मुंह बंद नहीं कर सका। इसलिए मैंने एक शब्द भी नहीं कहा, यहां तक कि रवि शास्त्री से भी जिक्र नहीं किया। मैं जो बात कहने की कोशिश कर रहा हूं वह यह है कि इंटरव्यू के समय तक मुझे पता था कि ऋषभ एमएसके स्वाभाविक उत्तराधिकारी होंगे।”

admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *