‘आराम क्या होता है… टीम से निकालो, हमारे टाइम तो ऐसा ही होता था’, रोहित-विराट और राहुल पर बरसे गौतम गंभीर!

‘आराम क्या होता है… टीम से निकालो, हमारे टाइम तो ऐसा ही होता था’, रोहित-विराट और राहुल पर बरसे गौतम गंभीर!

भारतीय टीम इस वक्त तमाम तरह के बदलावों से गुजर रही है। कप्तान से लेकर खिलाड़ी तक सबको टी20 विश्व कप में मिली शिकस्त का खामियाजा भुगतना पड़ रहा है। इसी कड़ी में रोहित शर्मा, विराट कोहली और केएल राहुल जैसे सीनियर खिलाड़ियों पर भी गाज गिरती दिख रही है।

आराम दिया गया है या बाहर किए गए हैं? स्पष्ट करें!: माना जा रहा है कि इन तीनों खिलाड़ियों को 3 जनवरी से श्रीलंका के खिलाफ शुरु होने जा रही टी20 सीरीज के लिए सेलेक्ट किए गए स्क्वॉड में सेलेक्ट नहीं किया गया है। वहीं, कुछ मीडिया रिपोर्ट्स में दावा किया जा रहा है कि इस तिकड़ी को आराम दिया गया है। हालांकि, अभी तक ये स्पष्ट नहीं हो सका है उनके टीम में सेलेक्शन न होने का कारण क्या है। इस विषय पर पूर्व सलामी बल्लेबाज गौतम गंभीर ने कहा है कि,

“स्पष्टता होनी चाहिए। चयनकर्ताओं और इन खिलाड़ियों के बीच अच्छा संवाद होना चाहिए। अगर चयनकर्ताओं ने इन लोगों से आगे देखने का फैसला किया है तो ठीक है। मुझे लगता है कि बहुत सारे देशों ने ऐसा किया है। सबसे पहले तो चयनकर्ताओं को यह स्पष्ट होना चाहिए कि उन्हें आराम दिया गया है या बाहर किया गया है। मेरे अनुसार उसे सफेद गेंद के क्रिकेट से हटा दिया गया है। कभी भी इसे लेकर पर्याप्त स्पष्टता नहीं रही है। यह ‘आराम’ नामक शब्द बहुत अच्छा है, यह तब नहीं था जब हम खेल रहे थे। या तो हमें हटा दिया जाता था या चुना जाता था।“

तीनों खिलाड़ियों की फॉर्म को लेकर बोले दिग्गज: वहीं, पूर्व खिलाड़ी ने रोहित शर्मा, विराट कोहली और केएल राहुल की फॉर्म को लेकर बड़ा बयान दिया है।

उन्होंने कहा है कि,

“निजी तौर पर अगर आप मुझसे पूछें तो यह मुश्किल लगता है। सूर्यकुमार यादव, ईशान किशन जैसे लोगों को टीम में होना चाहिए। हार्दिक पंड्या वहां हैं। मैं पृथ्वी शॉ, राहुल त्रिपाठी और संजू सैमसन जैसे खिलाड़ियों को टीम में देखना चाहता हूं। वे निडर क्रिकेट खेल सकते हैं।“

राहुल द्रविड़ पर उठाए सवाल: इस दौरान पूर्व सलामी बल्लेबाज ने राहुल द्रविड़ की अगुवाई वाले टीम प्रबंधन पर ऊंगली उठाई है। उन्होंने कहा है कि,

“हमने पिछले (टी 20) विश्व कप के बारे में बहुत कुछ कहा है कि हम एक निश्चित खाके पर खेलना चाहते हैं, हम आक्रामक क्रिकेट खेलना चाहते हैं लेकिन जब महत्वपूर्ण मुकाबले (इंग्लैंड के खिलाफ सेमीफइनल) की बात आती है तो यह खाका हवा हो जाता है।“

admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *