“नो-बॉल डालना गुनाह है”, हार के बाद अर्शदीप सिंह पर फूटा हार्दिक पांड्या का गुस्सा, जमकर सुनाई खरी-खोटी

“नो-बॉल डालना गुनाह है”, हार के बाद अर्शदीप सिंह पर फूटा हार्दिक पांड्या का गुस्सा, जमकर सुनाई खरी-खोटी

भारत और श्रीलंका के बीच खेला गया दूसरा मुकाबला काफी रोमांचक रहा। इस मुकाबले में श्रीलंका टीम ने पहले बल्लेबाजी करते हुए हार्दिक पांड्या (Hardik Pandya) की टीम को 207 रनों का पहाड़नुमा लक्ष्य दिया। जवाब में भारतीय टीम इस टारगेट को हासिल करने में पूरी तरह से असफल रही। जिसके चलते उसको 16 रनों से शर्मनाक हार का मुंह देखना पड़ा। वहीं, इस हार से कप्तान काफी निराश नजर आए। आइए जानते हैं कि इस हार के बाद उन्होंने क्या कुछ कहा…..

Hardik Pandya आए टीम इंडिया को मिली हार से निराश: मैच खत्म होने के बाद हार्दिक पांड्या काफी निराश नजर आए। उन्होंने पोस्ट मैच सेरेमनी के दौरान बातचीत करते हुए कहा कि टीम ने पावरप्ले में बेहद ही खराब बल्लेबाजी और गेंदबाजी की। उन्होंने (Hardik Pandya) कहा,

“हमनें पावरप्ले में बेहद ही खराब गेंदबाजी और बल्लेबाजी की। मैं इससे काफी निराश हूं। हमनें इस मुकाबले में ऐसी गलतियां की जो इस स्तर पर हमें नहीं करनी चाहिए थी। लेकिन हम अपनी गलतियों से सिख सकते हैं। इस पर हमारा नियंत्रण है। आपका दिन खराब हो सकता है लेकिन मूल्यों से दूर नहीं जाना चाहिए।”

अर्शदीप के नो बॉल डालने पर Hardik Pandya ने तोड़ी चुप्पी: हार्दिक (Hardik Pandya) ने बात को आगे बढ़ाते हुए कहा कि अर्शदीप सिंह ने पहले भी नो बॉल डाली है। लेकिन इस स्तर पर नो बॉल डालने बिल्कुल भी अच्छी बात नहीं है। कप्तान ने कहा,

“अर्शदीप के लिए ये स्थिति बिल्कुल भी आसान नहीं है। पहले भी कई मुकाबलों में उन्होंने नो-बॉल फेंकी थी। मैं किसी को ब्लेम नहीं कर रहा हूं लेकिन नो बॉल एक क्राइम है। सूर्य ने नंबर चार पर शानदार बल्लेबाजी करते हुए रन बनाए। जो कोई भी टीम में आता है- आप उन्हें ऐसी भूमिका देना चाहते हैं जिसमें वे सहज हों (राहुल के 3 नंबर पर बल्लेबाजी करने पर बात करते हुए)।”

गौरतलब यह है कि टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी करते हुए श्रीलंकाई टीम ने 207 रनों का पहाड़नुमा लक्ष्य खड़ा किया। जिसको भारतीय टीम हासिल करने में नाकामयाब हुई। अक्षर पटेल और सूर्यकुमार यादव की अर्धशतकीय पारी के बावजूद मेजबान टीम जीत हासिल नहीं कर सकी। लिहाजा हार्दिक पांड्या की टीम को 16 रन से हार का मुंह देखना पड़ा।

admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *