‘मेरी मर्जी जो मुझे ठीक लगेगा, मैं वो करूँगा…’, हार्दिक पंड्या ने बताया क्यों सैमसन और उमरान मलिक को नहीं दिया मौका

‘मेरी मर्जी जो मुझे ठीक लगेगा, मैं वो करूँगा…’, हार्दिक पंड्या ने बताया क्यों सैमसन और उमरान मलिक को नहीं दिया मौका

हार्दिक पांड्या (Hardik Pandya) की अगुवाई वाली भारतीय टीम ने न्यूजीलैंड के खिलाफ तीन मैचों की टी-20 सीरीज 1-0 से जीत ली है। बता दें तीसरा टी-20 मुकाबला बारिश के चलते DLS नियम के अनुसार टाई किया गया और भारत ने ये सीरीज अपने नाम की। दरअसल इस सीरीज के लिए कई सीनियर खिलाड़ियों को आराम दिया गया था, ऐसे में सभी फैंस को ये उम्मीद थी कि हार्दिक अपनी कप्तानी में ज्यादा-से-ज्यादा युवा खिलाड़ियों को मौका देंगे।

लेकिन ऐसा नहीं देखा गया। संजू सैमसन, उमरान मलिक जैसे युवा खिलाड़ियों को पांड्या (Hardik Pandya) ने लगातार नजरअंदाज किया, वहीं सीरीज खत्म होने के बाद जब उनसे इस बारे में पूछा गया तो पांड्या प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान भड़के हुए नजर आए और उन्होंने अपनी चुप्पी तोड़ते हुए एक बड़ा बयान दिया।

संजू-उमरान को मौका नहीं दिए जाने पर Hardik Pandya ने तोड़ी चुप्पी
दरअसल न्यूजीलैंड (NZ vs IND) के खिलाफ खेली गई तीन मैचों की टी-20 सीरीज में टीम इंडिया की कमान हार्दिक पांड्या को सौंपी गई थी, जहां पहला टी-20 मैच बारिश के चलते रद्द हुआ, तो दूसरे टी-20 मैच को भारत ने 65 रनों से जीता, वहीं तीसरे टी-20 मैच में भारत की पारी के दौरान बारिश आने से मैच को डीएलएस नियम से टाई किया गया। वहीं 1-0 से आगे चल रही भारतीय टीम ने इस प्रकार ये सीरीज जीत ली। सीरीज जीतने के बाद प्रेस कांफ्रेंस के दौरान मीडिया से बातचीत करते हुए हार्दिक पांड्या (Hardik Pandya) से जब संजू सैमसन और उमरान मलिक को मौका नहीं देने पर सवाल किए।

तो इसका जवाब देते हुए पांड्या ने कहा,”पहली बात तो बाहर कौन क्या बोल रहा है उससे इस लेवल पर कोई फर्क नहीं पड़ता है। ये मेरी टीम है और हेड कोच और मुझे जो ठीक लगेगा, जो साइड हमें चाहिए होगा उसे हम खिलाएंगे। बहुत समय है। सबको मौका मिलेगा और जब मौका मिलेगा लंबा मिलेगा। अगर बड़ी सीरीज होती और ज्यादा मैच होते तो जाहिर तौर पर मौके ज्यादा होते। ये छोटी सीरीज थी। मैं ज्यादा चीजें और चेंज में विश्वास नहीं करता और आगे भी नहीं करूंगा।”

हार्दिक पांड्या ने आगे कहा,”बहुत समय है, सबको मौका मिलेगा और जब मौका मिलेगा लंबा मिलेगा। अगर बड़ा सीरीज होता, ज्यादा मैच होते तो जाहिर तौर पर मौके ज्यादा होते। ये छोटा सीरीज था, मैं ज्यादा बदलाव करने में भरोसा नहीं करता और आगे भी इसी पर अमल करूंगा।”

‘मुझे छह बॉलिंग ऑप्शन चाहिए था’
भारतीय कप्तान हार्दिक पांड्या (Hardik Pandya) ने अपनी बात को और मजबूत करने के लिए दीपक हुड्डा का उदाहरण देते हुए कहा कि टीम प्रबंधन छठा गेंदबाजी विकल्प चाहता था इसलिए उन्होंने हुड्डा को आजमाया और ये काम कर गया। उन्होंने कहा कि

”जैसे मुझे छह बॉलिंग ऑप्शन चाहिए थे और वह चीज इस टूर में आई है, जैसे दीपक हुड्डा ने गेंदबाजी की है. उन्होंने कहा कि थोड़ा-थोड़ा करके अगर ऐसे ही बल्लेबाज गेंदबाजी करेंगे तो आपके पास बहुत सारे मौके होंगे”साथ ही उन्होंने कहा कि अगर गेंदबाजी के विकल्प ज्यादा होंगे तो विपक्षी बल्लेबाजों के खिलाफ ज्यादा विकल्प होंगे। गौरतलब है कि भारत ने न्यूजीलैंड को 3 टी20 मैचों की सीरीज में 1-0 से हरा दिया। दोनों टीमों के बीच तीसरा टी20 मैच टाई पर छूटा। इससे पहले दूसरे मैच में भारत ने न्यूजीलैंड को हराया था।

admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *