रोहित ने अगर न चली होती वो चाल तो बर्बाद हो जाता गिल का दोहरा शतक

रोहित ने अगर न चली होती वो चाल तो बर्बाद हो जाता गिल का दोहरा शतक

भारत बनाम न्यूज़ीलैंड पहला वनडे मैच (IND vs NZ) काफी रोमांचक रहा। 18 जनवरी को हैरदराबद के राजीव गांधी क्रिकेट इंटरनेशनल स्टेडियम में खेले गए इस दिलचस्प मुकाबले में भारतीय टीम ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया। जिसके बाद टीम ने शुभमन गिल की दोहरी शतकीय पारी के बूते निर्धारित 50 ओवर में 8 विकेट के नुकसान पर 350 रन का टारगेट सेट कर सकी। जवाब में कीवी टीम तय किए गए लक्ष्य को हासिल करने में नाकामयाब हुई और उसको 12 रन से हार का मुंह देखना पड़ा।

ब्रेसवेल-सैंटनर की जोड़ी ने किया भारतीय गेंदबाजों की नाक में दम: जवाब में दिए गए टारगेट को हासिल करने के लिए मैदान पर उतरी न्यूज़ीलैंड टीम (IND vs NZ) की शुरुआत कुछ खास नहीं रही। सलामी बल्लेबाज फिन ऐलन 40 और ड्वेन कॉनवे 10 रन की पारी खेलकर पवेलियन लौट गए। हेनरी नकॉल्स और डैरिल मिचेल क्रमशः 18 और 9 रन ही अपने खाते में जोड़ सके। कप्तान टॉम लेथम 24 रन पर मोहम्मद सिराज की गेंद पर आउट हुए, जबकि ग्लेन फिलिप्स 11 रन पर।

जब टीम के शुरुआती बल्लेबाज फ्लॉप हुए तो ऐसे में निचले क्रम में बल्लेबाजी कर रहे मिशेल ब्रेसवेल और मिशेल सेंटनर ने मोर्चा संभाला। जब ब्रेसवेल बल्लेबाजी करने आए टीम का स्कोर 110/5 था। जिसके बाद उन्होंने ताबड़तोड़ बल्लेबाजी कर टीम को मजबूत स्थिति पर पहुंचाया और सेंटनर के साथ अर्धशतकीय साझेदारी की। जहां ब्रेसवेल ने शतकीय पारी खेल 140 रन बनाए, तो वहीं सैंटनर की अर्धशतकीय पारी के बदौलत टीम ने 57 रन जोड़े। हालांकि, इनकी पारी भी टीम को जीत नहीं दिला सकी।

IND vs NZ: सिराज बने कीवी टीम के लिए काल: इस मैच (IND vs NZ) में अगर टीम इंडिया की गेंदबाजी की बात करें तो टीम इस डिपार्ट्मन्ट में अच्छी नजर आई। इसी बीच मोहम्मद सिराज एक बार फिर टीम के लिए मैच विनर साबित हुए। उन्होंने अपनी कातिलाना गेंदबाजी के दम पर 10 ओवर में 4.60 के इकानॉमी से 4 विकेट हासिल किए। उनके अलावा मोहम्मद शमी और शार्दुल ठाकुर एक-एक विकेट अपने नाम दर्ज की। कुलदीप यादव के हाथों भी एक विकेट लगी। हार्दिक पांड्या और वॉशिंगटन सुंदर एक भी विकेट नहीं निकाल सके। भारतीय गेंदबाजों के प्रदर्शन के बदौलत कीवी टीम 337 रन ही बना सकी। परिणामस्वरूप भारत की 12 रन से जीत हुई।

रोहित शर्मा के इन फैसलों ने किया कमाल: भारतीय टीम की इस रोमांचक टीम में कप्तान रोहित शर्मा का भी अमूल्य योगदान रहा है। 45वें ओवर से पहले मेहमान टीम ताबड़तोड़ अंदाज में लक्ष्य के करीब पहुंच रही थी। इस मौके पर उन्होंने हार्दिक को गेंद थमाई, जिन्होंने पहले रनों पर रोक लगाई। जिसका फायदा उठाते हुए मोहम्मद सिराज ने अगले ही ओवर में 2 विकेट झटक डाले। वहीं 49 और 50वें ओवर में मुश्किल परिस्थिति में क्रमश: हार्दिक और ठाकुर को ओवर देना भरत के हित में गया। क्योंकि इन दोनों ओवर में 1-1 विकेट आया।

admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *