कप्तानी के ‘लालच’ में थे विराट कोहली, धोनी से जल्द छिनना चाहते थे वनडे कप्तानी, रवि शास्त्री ने लगायी थी ऐसी फटकार

कप्तानी के ‘लालच’ में थे विराट कोहली, धोनी से जल्द छिनना चाहते थे वनडे कप्तानी, रवि शास्त्री ने लगायी थी ऐसी फटकार

यह तो हम सब जानते हैं कि, विराट कोहली और भारतीय टीम के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी का रिश्ता कितना गहरा और अनमोल है। महेंद्र सिंह धोनी और विराट कोहली दोनों ही भारतीय टीम के सफल कप्तानों में से एक है। आपने अक्सर विराट कोहली को महेंद्र सिंह धोनी का गुणगान करते हुए देखा होगा। मौजूदा समय में विराट कोहली के लिए एम एस धोनी से बढ़कर कोई भी नहीं है वह उन्हें अपने बड़े भाई की तरह देखते हैं।

आप यह सुनकर हैरान हो जाएंगे कि एक समय था जब कोहली एम एस धोनी के साथ अपने इस मजबूत रिश्ते को तोड़ भी सकते थे। भारत के पूर्व फील्डिंग कोच आर. श्रीधर ने अपनी किताब “कोचिंग बियॉन्ड” में इस बात का खुलासा किया है।

किताब “कोचिंग बियॉन्ड” में किया खुलासा: भारत के पूर्व फील्डिंग कोच आर. श्रीधर ने अपनी किताब “कोचिंग बियॉन्ड” में खुलासा करते हुए बताया कि, यह वाक्य उस समय का है जब विराट के सिर पर टी20 और वनडे का कप्तान बनने का जुनून सवार था। 2016 में जब धोनी और विराट के रिश्ते में कप्तानी को लेकर बिखरने वाला था तब रवि शास्त्री ने कोहली को समझाया और भारतीय क्रिकेट टीम में अनमोल दिखने वाला इस रिश्ते को बचाया।

विराट कोहली कप्तान बनने को लेकर थे काफी उतावले: आर. श्रीधर ने अपनी किताब “कोचिंग बियॉन्ड” के पेज नंबर 42 में इस बात का खुलासा करते हुए लिखा कि,

” साल 2016 में एक समय ऐसा भी आया था जब विराट कोहली कप्तान बनने को लेकर काफी उतावले थे. उन्होंने कुछ ऐसी बातें कहीं जो बता रही थीं कि वो व्हाइट बॉल वाली क्रिकेट में भी कप्तानी करना चाहते हैं. एक शाम रवि शास्त्री ने उन्हें फोन किया और कहा देखो विराट, एमएस ने लाल गेंद वाली क्रिकेट में आपको कप्तानी दी है.

आपको उनका सम्मान करना होगा. वो सीमित ओवरों वाली क्रिकेट में भी आपको कप्तानी देंगे, लेकिन जब समय सही हो. तब तक आप उनका सम्मान नहीं करेंगे तो कल जब आप कप्तान होंगे तो आपको भी आपकी टीम से सम्मान नहीं मिलेगा, चाहे कुछ भी हो रहा हो, आपको उनका सम्मान करना होगा, कप्तानी आपके पास आएगी, आपको इसके पीछे भागना नहीं है.”

admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *