ऋषभ पंत अकेले चला रहे थे गाड़ी, नींद की झपकी आने से बिगड़ा संतुलन, जानें आखिर कैसे घटी ये बड़ी दुर्घटना

ऋषभ पंत अकेले चला रहे थे गाड़ी, नींद की झपकी आने से बिगड़ा संतुलन, जानें आखिर कैसे घटी ये बड़ी दुर्घटना

Rishabh Pant : टीम इंडिया के विकेटकीपर बल्लेबाज ऋषभ पंत (Rishabh Pant) का खतरनाक कार एक्सीडेंट हो गया है। वह दिल्ली से रुड़की की ओर जा रहे थे। ऐसे में पंत की कार रेलिंग से जा टकराई और इसके बाद गाड़ी में भीषण आग लग गई। यह हादसा शुक्रवार (30 दिसंबर) तड़के रूड़की के गुरुकुल नारसन क्षेत्र में हुआ है। ऐसे में वहां के स्थानीय लोगों ने तुरंत 108 बुलाकर भारतीय खिलाड़ी को अस्पताल में भर्ती कराया। इस भयनाक कार एक्सीडेंट में पंत को पैर और माथे पर ज्यादा चोटे आई है।

फिलहाल उन्हें गंभीर हालत में देहरादून के लिए रेफर कर दिया गया है। पंत के एक्सीडेंट की कई डरावनी तस्वीरें सामने आई है। बहरहाल, कई सवाल अब भी सामने खड़े हुए है कि, कार कौन चला रहा था, एक्सीडेंट कैसे हुआ आदि। चलिए तो इस लेख के जरिये विस्तार से खबर के बारे में बताते है।

नींद की झपकी लगने से Rishabh Pant की कार का बिगड़ा संतुलन: बता दें कि टीम इंडिया के विकेटकीपर बैट्समैन ऋषभ पंत (Rishabh Pant) अपनी बीएमडब्ल्यू कार से दिल्ली से अपने घर रुड़की लौट रहे थे। इस दौरान वह गाड़ी में अकेले ही मौजूद थे और कार चला रहे थे। खबरों की माने तो पंत को नींद की झपकी आ गई थी और इसी कारण उनकी गाड़ी का बैलेंस बिगड़ गया। ऐसे में कार रेलिंग से जा टकराई। वहीं, इस स्थिति में पंत ने खुद को बचाने की कोशिश में कार का शीशा तोड़ दिया और बाहर निकल गए। गंभीर हालत में टीम इंडिया के खिलाड़ी को आनन – फानन में रुड़की के एक हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया।

गंभीर हालत में देहरादून किया गया रेफर: बता दें कि गंभीर हालत में ऋषभ (Rishabh Pant) को को तुंरत रुड़की के एक हॉस्पिटल ले जाया गया था। लेकिन नाजुक स्थिति के कारण उन्हें बाद में देहरादून के लिए रेफर कर दिया गया। इस खतरनाक एक्सीडेंट में पंत को काफी गंभीर चोटे आई है। उनके दाहिने पैर का लिगमेंट टूट गया है। साथ ही बताया जा रहा है कि उनकी प्लास्टिक सर्जरी की जाएगी। फिलहाल देहरादून के हॉस्पिटल में उनकी फुल बॉडी एमआरआई के बाद ही चोट का विस्तार से मालूम किया जा सकेगा।

admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *