IND vs BAN 1st ODI: ‘हमने अच्छी गेंदबाजी की, लेकिन…’, बांग्लादेश से कैसे हारी टीम इंडिया, रोहित ने बताई वजह

IND vs BAN 1st ODI: ‘हमने अच्छी गेंदबाजी की, लेकिन…’, बांग्लादेश से कैसे हारी टीम इंडिया, रोहित ने बताई वजह

भारतीय टीम को बांग्लादेश के खिलाफ उसी के घर में तीन वनडे मैचों की सीरीज के पहले मुकाबले में 1 विकेट से शिकस्त झेलनी पड़ी. इस मैच में टीम इंडिया की बल्लेबाजी पूरी तरह से फ्लॉप रही. मैच के बाद कप्तान रोहित ने बैटिंग को ही असली जिम्मेदार ठहराया. उन्होंने कहा कि टीम को 25-30 रन और बनाना चाहिए था…

IND vs BAN 1st ODI: रोहित शर्मा की कप्तानी में भारतीय टीम की बांग्लादेश दौरे पर शुरुआत अच्छी नहीं हुई. तीन मैचों की वनडे सीरीज के पहले ही मुकाबले में टीम इंडिया को हार झेलनी पड़ी. ढाका में खेला गया यह मैच काफी रोमांचक रहा, जिसमें मेहदी हसन मिराज की तूफानी पारी के बदौलत बांग्लादेश ने एक विकेट से जीत दर्ज की.

मैच में भारतीय टीम ने सिर्फ 187 रनों का ही टारगेट दिया था. इसके बावजूद टीम इंडिया ने बांग्लादेश को पस्त कर दिया था. मेजबान ने एक समय 136 रनों पर ही 9 विकेट गंवा दिए थे. टीम इंडिया को एक विकेट की तलाश थी, लेकिन मेहदी हसन ने नाबाद 38 रन बनाकर मैच ही पलट दिया.

रोहित ने बल्लेबाजों को बताया जिम्मेदार

हार के बाद भारतीय कप्तान रोहित शर्मा का बड़ा बयान आया है. उन्होंने हार के लिए अपने बल्लेबाजों को ही जिम्मेदार बताया है. उन्होंने कहा कि टीम इंडिया ने गेंदबाजी तो शानदार की थी, लेकिन बैटिंग में ही दमदार प्रदर्शन नहीं कर सके. यदि 25-30 रन और बना लिए होते, तो आज मैच का नतीजा कुछ और ही होता. रोहित ने माना कि भारतीय टीम को 240-250 रनों का टारगेट सेट करना था.

 

‘240-250 के स्कोर तक पहुंचना चाहिए था’: मैच के बाद कप्तान रोहित ने कहा, ‘यह मैच काफी रोमांचक और नजदीकी था. मैच में एक समय हमने शानदार वापसी की थी. मगर अब अच्छी बल्लेबाजी नहीं कर सके. 186 अच्छा स्कोर नहीं था, लेकिन हमने गेंदबाजी शानदार की. मगर वो (बांग्लादेश) ने अपने आप को दबाव में भी संभाले रखा.’

कप्तान रोहित ने कहा, ‘हमने मैच में 40 ओवर तक शानदार गेंदबाजी की और लगातार विकेट भी लिए. मगर हमारे पास अच्छा स्कोर नहीं था. 25-30 रन और होते, तो मदद मिलती. हमें 240-250 के स्कोर तक पहुंचना चाहिए था.’

‘हार के लिए हम कोई बहाना नहीं बनाएंगे’: रोहित ने कहा, ‘यदि आप लगातार विकेट गंवाते हैं, तो फिर कुछ भी आसान नहीं होता है. हमें इससे सीखना होगा कि आगे ऐसी विकेट पर किस तरह खेलना है. हम कोई बहाना नहीं बनाएंगे, क्योंकि ऐसी पिच पर हम खेलने के आदी हैं.’

उन्होंने कहा, ‘मैं सच में यह नहीं जानता कि अगले वो एक-दो प्रैक्टिस सेशन में कैसे सुधार कर पाएंगे. मेरा मानना है कि यह सिर्फ दबाव संभालने की ही बात है. मुझे उम्मीद है कि ये लोग इससे सीखेंगे. हम जानता हैं कि इन हालात में क्या करना है. अब अगले मैच का इंतजार है.’

admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *