“पता नहीं वह कब सीखेगा” दोहरे शतक के बावजूद शुभमन गिल के पिता हुए नाराज़, जाहिर किया अपना दर्द

“पता नहीं वह कब सीखेगा” दोहरे शतक के बावजूद शुभमन गिल के पिता हुए नाराज़, जाहिर किया अपना दर्द

भारतीय टीम (Team India) के 23 वर्षीय युवा सलामी बल्लेबाज शुभमन गिल (Shubhman Gill) इस समय काफी शानदार फॉर्म में चल रहे हैं। श्रीलंका के खिलाफ पहले एकदिवसीय मैच में उन्होंने 70 रनों की पारी खेली थी। जिसके बाद तीसरे मैच में उन्होंने 116 रन बनाए थे। जिसके बाद से चारों – तरफ गिल की वाह -वाही हो रही है। लेकिन इसके बावजूद गिल के पिता लखविंदर गिल अपने बेटे से खुश नहीं थे। चलिए तो इस आर्टिकल के जरिये जानते हैं कि आखिरकार दोहरा शतक लगाने के बाद भी शुभमन गिल के पिता क्यों खफा हैं…..

शतक के बावजूद Shubhman Gill के पिता नहीं थे खुश: दरअसल, श्रीलंका के खिलाफ तीसरे वनडे मैच के दौरान पंजाब के क्रिकेटर गुरकीरत मान उस वक़्त शुभमन के घर पर ही थे जब शुभमन तिरुवनंतपुरम में 116 के स्कोर पर आउट हुए थे। शुभमन‌ गिल के पिता गिल के इस तरह आउट होने से बेहद नाखुश थे। उन्होंने गुरकीरत से कहा

“तुमने देखा वह कैसे आउट हुआ, उसके पास काफी समय था”। शतक बनाने के बाद वह आराम से दोहरे शतक के लिए प्रयास कर सकता था। उसे ऐसी शुरुआत हमेशा नहीं मिलेगी। पता नहीं वह इन चीजों से कब सीखेगा”।

इस बात को अभी 2 दिन ही बीते थे कि शुभमन गिल ने 18 जनवरी को हैदराबाद में न्यूजीलैंड के खिलाफ दोहरा शतक जड़ दिया।

पिता की नाराज़गी को गिल ने दोहरा शतक लगाकर किया दूर : बता दें कि गिल के पिता दोहरा शतक देखकर बेहद खुश हो गए थे। ऐसे में जाहिर है कि उन्होंने अपने पिता की शिकायत दूर करने के लिए ही यह कारनामा किया है। क्रिकेटर गुरकीरत मान ने बताया कि शुभमन के पिता और हम सभी को शुभमन से काफी बड़ी-बड़ी अपेक्षाएं हमेशा से थी। अच्छा है कि अब वह अपनी शुरुआत को लंबी पारियों में तब्दील कर पाने में कामयाब हो रहा है। लखविंदर अंकल अब थोड़े खुश होंगे।

हर पिता का सपना होता है की उसका बेटा बड़ी उपलब्धियां हासिल करें और ऐसा ही सपना शुभमन गिल के पिता का हैं और उनकी इच्छा थी की गिल दोहरा शतक लगाए और उनके बेटे ने ये कारनामा करके अपने पिता की इच्छा पूरी कर दी है।

admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *