सचिन तेंदुलकर ने बताया क्यों धोनी को कप्तान बनाने के लिए उन्होंने की थी सिफारिश

सचिन तेंदुलकर ने बताया क्यों धोनी को कप्तान बनाने के लिए उन्होंने की थी सिफारिश

सबसे पहले धोनी ने 2007 टी20 वर्ल्ड कप में टीम की अगुवाई की थी, जहां भारत खिताब जीतने में सफल रहा था। इसके बाद धोनी की कप्तानी में भारत ने 2011 वर्ल्ड कप के साथ 2013 चैंपियंस ट्रॉफी जीती।

महेंद्र सिंह धोनी की गिनती भारत के ही नहीं बल्कि दुनिया के सबसे सफल कप्तानों में की जाती है। उनकी कप्तानी में टीम इंडिया ने वो सब कुछ हासिल किया जिसे एक टेस्ट प्लेइंग नेशन हासिल करने का सपना देखता है। लेकिन क्या आप जानते हैं धोनी को कप्तान बनाने में सबसे बड़ा हाथ क्रिकेट के भगवान कहे जाने वाले सचिन तेंदुलकर का था। जी हां, सचिन तेंदुलकर की सिफारिश की वजह से ही धोनी को जूनियर होते हुए भी टीम की कप्तानी मिली थी।

सबसे पहले धोनी ने 2007 टी20 वर्ल्ड कप में टीम की अगुवाई की थी, जहां भारत खिताब जीतने में सफल रहा था। इसके बाद धोनी की कप्तानी में भारत ने 2011 वर्ल्ड कप के साथ 2013 चैंपियंस ट्रॉफी जीती। धोनी दुनिया के एकमात्र ऐसे कप्तान हैं जिनके नाम ये तीन आईसीसी खिताब हैं।

Infosys के एक इवेंट में सचिन तेंदुलकर ने धोनी को कप्तान बनाए जाने की कहानी के बारे में बताया ‘यह इंग्लैंड में था जब मुझे कप्तानी की पेशकश की गई थी। मैंने कहा कि हमारे पास टीम में एक बहुत अच्छा लीडर है जो अभी जूनियर है और वह ऐसा व्यक्ति है जिसे आपको करीब से देखना चाहिए। मैंने उसके साथ बहुत सारी बातचीत की है, विशेष रूप से मैदान पर जहां मैं पहली स्लिप में फील्डिंग करता और उससे पूछा कि आप क्या सोचते हैं?’

उन्होंने आगे कहा ‘हालांकि, राहुल कप्तान थे लेकिन मैं उनसे पूछा और मुझे जो प्रतिक्रिया मिली वह बहुत संतुलित, शांत, फिर भी बहुत परिपक्व थी। अच्छी कप्तानी विपक्ष से एक कदम आगे रहने के बारे में है। अगर कोई ऐसा करने के लिए पर्याप्त स्मार्ट है, जैसा कि हम कहते हैं, जोश से नहीं, होश से खेलो। यह तुरंत नहीं होता, आपको 10 गेंदों में 10 विकेट नहीं मिलेंगे। आपको इसकी योजना बनानी होगी। दिन के अंत में स्कोरबोर्ड मायने रखता है। और मैंने उनमें वे गुण देखे। इसलिए मैंने उनके नाम की सिफारिश की थी।’

admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *