बांग्लादेश से मिली हार पर केएल राहुल के बचाव में उतरे Sunil Gavaskar, टीम इंडिया की इस गलती को बताया हार की बड़ी वजह

बांग्लादेश से मिली हार पर केएल राहुल के बचाव में उतरे Sunil Gavaskar, टीम इंडिया की इस गलती को बताया हार की बड़ी वजह

बांग्लादेश के खिलाफ खेली जा रही वनडे सीरीज़ में भारतीय टीम को पहले मैच में 1 विकेट से करारी हार झेलनी पड़ी है। इस मैच में भारतीय टीम की बैटिंग और फील्डिंग की काफी आलोचना हो रही है। टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी करने मैदान में उतरी टीम इंडिया 41.2 ओवर में 186 रनों पर आलआउट हो गई थी। इसके बाद साधारण फील्डिंग में भी टीम फिसड्डी साबित हुई।

हालांकि इस रोमांचक मैच में बांग्लादेश के 9 विकेट गिर जाने के बाद भारतीय टीम के विकेटकीपर केएल राहुल (KL Rahul) ने बहुत बड़े विलेन साबित हुए। उन्होंने मैच के अंतिम में मेहदी हसन का कैच छोड़ कर पूरा रूख बदल दिया। केएल के इस कैच को ही मैच हारने की सबसे बड़ी वजह बताया जा रहा है। बहरहाल, पूर्व भारतीय खिलाड़ी सुनील गावस्कर (Sunil Gavaskar) ने इस पर बड़ा बयान दिया है।

Sunil Gavaskar ने केएल राहुल का किया बचाव: दरअसल गावस्कर (Sunil Gavaskar) का मानना है कि यह मैच टीम इंडिया राहुल के कैच छोड़ने से नहीं हारी है। उन्होंने इस बारे में सोनी स्पोर्ट्स नेटवर्क पर बात करते हुए कहा कि,

“आप वास्तव में ऐसा नहीं कहे सकते हैं कि यह था। क्योंकि हां, मुझे लगता है कि यह आखिरी विकेट था। इससे मैच खत्म हो जाना चाहिए था। लेकिन सच्चाई यह है कि इंडिया ने 186 रन बनाए थे। मुझे लगता है कि आपको उसे भी देखना चाहिए था। गेंदबाजों ने शानदार प्रदर्शन किया और खुद को ऐसी स्थिति में पहुंचाया जहां उनका स्कोर 9 विकेट पर 136 रन था।”

उन्होंने आगे इस बारे में बात करते हुए कहा कि, ” फिर हसन मिराज आया….वह कैच छूटने के साथ-साथ थोड़ी किस्मत भी उनके हक़ में थी, लेकिन वह (हसन मिराज) बहुत अच्छा खेला। उसने समझदारी से खेला। वे आक्रमण को विरोधी टीम तक ले गए और कुछ साहसिक शॉट खेले।”

सुनील गावस्कर ने भारत की इस गलती को ठहराया हार का जिम्मेदार
सुनील गावस्कर (Sunil Gavaskar) ने राहुल का बचाव करते हुए आगे कहा कि,

“जब आपको चार रन प्रति ओवर से कम चेज करना होता है। जिस तरह से बांग्लादेश को चाहिए था, तब प्रेशर अपने आप कम हो जाता है। बांग्लादेश ने ज़्यादा सावधानी से खेलकर अपने आप के लिए यह मुश्किल बना लिया था। यही उनके लिए दिक्कत बनी। मुझे लगता है कि भारत ने 70-80 रन अधिक नहीं बनाए, यही कारण रहा कि वे हार गए।”

admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *