सूर्यकुमार यादव ने खोले अपने सारे राज- इस तरह लेते है जिंदगी का मजा, इस तरह बढ़ाते है अपना कॉन्फिडेंस

सूर्यकुमार यादव ने खोले अपने सारे राज- इस तरह लेते है जिंदगी का मजा, इस तरह बढ़ाते है अपना कॉन्फिडेंस

टीम इंडिया के स्टार बल्लेबाज सूर्यकुमार यादव ने एक साल पहले अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में पदार्पण किया. तब से लेकर अब तक वह कई कीर्तिमान हासिल कर चुके हैं. टी20 वर्ल्ड कप में खेल चुके हैं और कई मैचों में जीत दिला चुके हैं. उन्होंने न्यूजीलैंड के खिलाफ सीरीज के दूसरे टी20 मैच (IND vs NZ 2nd T20I) में कमाल का प्रदर्शन करते हुए शतक जमाया. यह उनके टी20 इंटरनेशनल करियर का दूसरा शतक है. मैच के बाद उन्होंने खुद से जुड़े कई राज खोले.

NZ के खिलाफ जड़ा शतक: भारत ने माउंट माउंगानुई के बे-ओवल मैदान पर खेले गए सीरीज के दूसरे टी20 मैच में न्यूजीलैंड को 65 रनों से हराया. सूर्यकुमार यादव को मैन ऑफ द मैच चुना गया. उन्होंने इस मैच में 51 गेंदों पर 111 रनों की नाबाद पारी खेली जिसमें 11 चौके और 7 छक्के शामिल रहे. भारत ने 6 विकेट पर 191 रन बनाए जिसके बाद मेजबान टीम 18.5 ओवर में 126 रन पर ऑलआउट हो गई. इससे हार्दिक पांड्या की कप्तानी में खेल रही टीम ने तीन मैचों की टी20 सीरीज में 1-0 से बढ़त बना ली है.

यूं आता है जिंदगी में मजा: मुंबई के रहने वाले सूर्यकुमार ने मैच के बाद कई पक्षों पर खुलकर बात की. उन्होंने बताया कि वह अपने परिवार के साथ काफी समय बिताना पसंद करते हैं. सूर्या ने कहा, ‘खाली समय में मैं अपनी पत्नी के साथ समय बताता हूं और अपने माता-पिता से बहुत बात करता हूं. वे काम को लेकर बात नहीं करते. हमारे बीच खेल को लेकर कोई चर्चा नहीं होती. यह सबसे जरूरी चीज है और मुझे वास्तव में इस तरह की जिंदगी जीने में बहुत मजा आता है.’

कहां से मिलता है कॉन्फिडेंस?: सूर्यकुमार से पूछा गया कि वह इतना आत्मविश्वास कहां से हासिल करते हैं, उन्होंने कहा, ‘आत्मविश्वास हमेशा बने रहता है. जब आप अच्छा प्रदर्शन कर रहे होते हैं तो तब भी आपको उन्हीं प्रक्रियाओं से गुजरना होता है. मैच के दिन भी मैं 99 प्रतिशत वही चीजें करने की कोशिश करता हूं जो आम दिन करता हूं. जैसे अगर मुझे जिम जाना है, सही समय पर खाना. बस इसी तरह की छोटी-छोटी चीजों पर ध्यान देना होता है. इसलिए जब मैं मैदान पर उतरता हूं तो अच्छा महसूस करता हूं.’

ऐसे गलत भी हो सकती है रणनीति: सूर्य कुमार ने कहा, ‘मैंने कभी खेल से आगे निकलने का प्रयास नहीं किया. मैंने कभी यह नहीं सोचा कि अच्छा खेल रहा हूं तो इतने रन बनाने चाहिए. मौजूदा वक्त में रहना सबसे जरूरी होता है. आप एक मिनट के लिए भी यह सोचते हो कि मैं खेल से बड़ा हूं या मैं गेंदबाजों पर हावी हो रहा हूं तो आपकी रणनीति गलत जा सकती है. इसलिए वर्तमान में बने रहना और उस क्षण के बारे में ही सोचना अहम होता है.’ सूर्या ने अभी तक 13 वनडे और 41 टी20 इंटरनेशनल मैच खेले हैं. उन्होंने वनडे में दो अर्धशतक लगाते हुए 340 जबकि टी20 अंतरराष्ट्रीय फॉर्मेट में 2 शतक 12 अर्धशतकों की मदद से कुल 1395 रन बनाए हैं.

admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *