सूर्यकुमार की नजरें अब टेस्ट क्रिकेट पर, टीम इंडिया से बुलावा – ‘आ रहा है’

सूर्यकुमार की नजरें अब टेस्ट क्रिकेट पर, टीम इंडिया से बुलावा – ‘आ रहा है’

ठीक दो साल पहले यूएई में आईपीएल 2020 के दौरान ऑस्ट्रेलिया दौरे के लिए भारतीय टीम का ऐलान हुआ था. तमाम उम्मीदों, अटकलों और मांग के बावजूद एक नाम उसमें नहीं था- सूर्यकुमार यादव. IPL में मुंबई इंडियंस और घरेलू क्रिकेट में मुंबई के लिए लगातार जोरदार प्रदर्शन के बावजूद सूर्यकुमार की अनदेखी ने सवाल खड़े किए थे. दो साल बाद अब सूर्या विश्व के नंबर एक टी20 बल्लेबाज बन गए हैं और अब नजरें हैं टेस्ट क्रिकेट में टीम इंडिया का टिकट हासिल करने पर. सूर्या का मानना है कि वो भी जल्द ही आने वाला है.

ऑस्ट्रेलिया में टी20 विश्व कप में बेहतरीन प्रदर्शन के बाद सूर्या ने न्यूजीलैंड के अपने पहले दौर पर, पहली बार मैदान में उतरते हुए टी20 बैटिंग की मास्टरक्लास लगाई, जो वह पिछले डेढ़ साल से ज्यादा वक्त में कई बार लगा चुके हैं. न्यूजीलैंड के गेंदबाजों ने बाकी भारतीय बल्लेबाजों को तो बांधकर रखा, लेकिन सूर्या पर बस नहीं चला और 32 साल के इस स्टार बल्लेबाज ने सिर्फ 51 गेंदों में नाबाद 111 रनों की धमाकेदार पारी खेलकर भारत की जीत की बुनियाद रखी.

टेस्ट का बुलावा- आ रहा है: माउंट माउनगानुई के बे ओवल मैदान में आए हजारों फैंस का मनोरंजन करने के बाद सूर्या ने अपने प्रदर्शन के बारे में बात की और उस सवाल का जवाब दिया, जो अब कई लोगों की जुबान पर है- ‘टेस्ट क्रिकेट में कब होगा सूर्योदय? सूर्या ने बैटिंग के अपने आत्मविश्वास की तरह इस सवाल का जवाब भी दिया, जिससे अच्छे संकेत मिल रहे हैं. मुंबई के बल्लेबाज ने कहा

पुराने दिनों को याद करते हैं सूर्या: सूर्यकुमार यादव ने इस साल टी20 क्रिकेट में 1151 रन बनाए हैं और 67 छक्के जमाए हैं. वह इन दोनों मामलों में इस साल न सिर्फ भारत के बल्कि विश्व के नंबर एक बल्लेबाज हैं. हालांकि, यहां तक का सफर आसान नहीं रहा और 31 की उम्र में उन्हें डेब्यू का मौका मिला. कई बार की अनदेखी के बारे में सूर्या ने कहा,

टी20 रैंकिंग में नंबर एक बल्लेबाज ने कहा, निश्चित तौर पर उस समय थोड़ा निराशा हुई थी लेकिन हम हमेशा इस पर ध्यान देते रहे कि अगर कुछ सकारात्मक है तो हमें उस तरफ ध्यान देना चाहिए. मैं कैसे बेहतर क्रिकेटर बन सकता हूं और कैसे आगे बढ़ सकता हूं. उस समय के बाद मैंने अलग-अलग चीजों को आजमाया जैसे कि अच्छा भोजन करना, अभ्यास सत्र में पर्याप्त समय बिताना, सही समय पर सोना, जिसका आज मुझे फायदा मिल रहा है.

admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *