दूसरे टी20 मुकाबले Team India के लिए सबसे बड़ा विलेन बना था ये खिलाड़ी, कप्तान और कोच का तोड़ा भरोसा, अब होगी छुट्टी

दूसरे टी20 मुकाबले Team India के लिए सबसे बड़ा विलेन बना था ये खिलाड़ी, कप्तान और कोच का तोड़ा भरोसा, अब होगी छुट्टी

भारत और श्रीलंका के बीच दूसरे टी-20 मुकाबले में टीम इंडिया (Team India) को 16 रनों से हार का सामना करना पड़ा जिस कारन अब यह सीरीज 1-1 की बराबरी पर पहुंच चुका है. आपको बता दें कि इस मुकाबले में टीम इंडिया (Team India) के कई खिलाड़ियों ने वह प्रदर्शन नहीं दिखाया जिस कारण उन्हे शामिल किया गया था.

यही वजह है कि टीम इंडिया की बाजी पूरी तरह उल्टी पड़ गई और नतीजा श्रीलंका के पक्ष में निकला. आज हम टीम इंडिया के उस खिलाड़ी के बाद करने जा रहे हैं जिन्हें दूसरे टी-20 में मौका देकर कप्तान हार्दिक पांड्या और कोच राहुल द्रविड़ को पछताना पड़ा.

इस खिलाड़ी को मौका देकर की गलती: हम टीम इंडिया (Team India) के जिस खिलाड़ी की बात कर रहे हैं वह कोई और नहीं राहुल त्रिपाठी है जिन्हें संजू सैमसन के चोटिल होने के बाद प्लेइंग इलेवन में मौका दिया गया था. अब ऐसा प्रतीत हो रहा है कि यह हार्दिक पांड्या की ये सबसे बड़ी गलती रही. इन पर जरूरत से ज्यादा भरोसा करते हुए नंबर 3 जैसी अहम पोजीशन पर बल्लेबाजी करने का मौका दिया गया पर यह पूरी तरह फ्लॉप रहे.

नहीं संभाल पाए अहम जिम्मेदारी: टीम इंडिया (Team India) में नंबर तीन पर बल्लेबाजी करने वाले किसी भी खिलाड़ी के लिए एक अहम जिम्मेदारी होती है. 207 रन के बड़े लक्ष्य का पीछा करने उतरी टीम इंडिया की कप्तानी कर रहे हार्दिक पांड्या ने राहुल त्रिपाठी को नंबर तीन पर बल्लेबाजी करने का मौका दिया. ये बल्लेबाज केवल 5 रन बनाए और पवेलियन लौटे जिसके बाद सोशल मीडिया पर इनकी खूब फजीहत हो रही थी. अगर यह मौका सूर्यकुमार यादव को दिया होता तो आज टीम इंडिया ने सीरीज पर कब्जा कर लिया होता.

नहीं कर सके 200 के स्कोर का पीछा: सबसे पहले बल्लेबाजी करते हुए श्रीलंका की टीम ने टीम इंडिया (Team India) के सामने 207 रनों का लक्ष्य रखा जिसे अगर टीम इंडिया के खिलाड़ी चाहते तो एक अच्छी पार्टनरशिप के सहारे कर सकते थे पर ऐसा नहीं हुआ. 57 के स्कोर पर ही टीम इंडिया के 5 विकेट गिर चुके थे.

भले ही सूर्यकुमार यादव ने 36 गेंदों में 51 रन और अक्षर पटेल ने 31 गेंदों में 65 रन बनाए पर तब तक काफी देर हो चुकी थी और रन चेस करना भारत के लिए लगभग मुश्किल हो चुका था.

admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *