ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ भारत का WTC फाइनल खेलना तय! इन 2 टीमों पर टिकी है टीम इंडिया की किस्मत

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ भारत का WTC फाइनल खेलना तय! इन 2 टीमों पर टिकी है टीम इंडिया की किस्मत

भारतीय क्रिकेट टीम (Team India) बीते 9 साल से आईसीसी ट्रॉफी की तलाश में है। हर टूर्नामेंट में उम्मीदों के साथ गई टीम इंडिया के हाथों में इस दौरान निराशा के अलावा और कुछ नहीं है। हाल ही में इंग्लैंड के खिलाफ टी20 विश्वकप 2022 के सेमीफाइनल में बाहर होने के बाद अब भारतीय टीम की निगाहें आईसीसी वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप पर टिकी हुई है।

इस टूर्नामेंट की ताजा अंक तालिका के अनुसार भारत के पास फाइनल खेलने का बेहतरीन मौका है। हालांकि अभी भी फाइनल की राह में कुछ कांटे हैं, इस लेख के जरिए हम आपको बताने वाले हैं कि आखिर टीम इंडिया किन समीकरण के तहत निर्णायक मुकाबला खेल सकती है।

बाकी टीमों के हालत के चलते मजबूत स्थिति में Team India: बांग्लादेश दौरे पर टीम इंडिया (Team India) ने आखिरी टेस्ट सीरीज खेली थी, जिसमें उन्होंने 2-0 से मेजबानों का सूपड़ा साफ करते हुए जीत हासिल की थी। जिसने साफ तौर पर वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप का फाइनल मुकाबले में भारत की जगह पक्की कर दी है। क्योंकि पाकिस्तान की इंग्लैंड से 3-0 की हार ने टीम इंडिया को फायदा पहुंचाया है।

वहीं ऑस्ट्रेलिया का दक्षिण अफ्रीका सीरीज में दबदबा भी भारत के लिए सकारात्मक साबित हो रहा है। कंगारू टीम ने अफ्रीका को 3 मैचों की सीरीज में 1-0 से पछाड़ा हुआ है। लेकिन अगर दक्षिण अफ्रीका बाकी 2 शेष मैच में से एक में जीत हासिल कर दूसरा ड्रॉ करवा सकता है तो सीधे तौर पर भारत को फायदा पहुंच सकता है।

इस समीकरण के साथ भारत खेलेगा WTC फाइनल: अब अगर वर्ल्ड टेस्ट चैम्पियंनशिप की अंक तालिका की बात की जाए तो ऑस्ट्रेलिया 76.92 प्रतिशत अंकों के साथ सबसे ऊपर काबिज है। इसके ठीक बाद भारत 58.93 प्रतिशत अंकों के साथ दूसरे स्थान पर है, भारतीय टीम को अगले साल अपने घर पर ही ऑस्ट्रेलिया के साथ बॉर्डर गावस्कर ट्रॉफी खेलनी है। जिसमें 4 मैच निर्धारित किए गए हैं, अब अगर ऐसे में भारत कंगारुयों का सूपड़ा साफ कर देता है तो ऑस्ट्रेलिया को हुए नुकसान के साथ टीम इंडिया (Team India) उनसे आगे निकलकर 65 प्रतिशत अंक हासिल कर सकता है।

वही अगर भारत 3-0 से जीतता है इन अंकों में कटौती देखी जाएगी। हालांकि इसके बावजूद भारत को दूसरे स्थान कोई टीम नहीं हिला पाएगी। इन सबके बीच भारत को स्लो ओवर रेट का ध्यान रखना जरूरी है, क्योंकि आईसीसी के नियम तहत स्लो ओवर रेट रखने वाली टीम को नुकसान उठाना पड़ता है।

admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *