IND VS NZ : ”हम आसानी से जीत सकते थे लेकिन उस …”, 3-0 से सीरीज हारने पर गुस्से से तिलमिलाए टॉम लेथम, बल्लेबाजों पर फोड़ा हार का ठीकरा

IND VS NZ : ”हम आसानी से जीत सकते थे लेकिन उस …”, 3-0 से सीरीज हारने पर गुस्से से तिलमिलाए टॉम लेथम, बल्लेबाजों पर फोड़ा हार का ठीकरा

IND VS NZ: भारत और न्यूजीलैंड के बीच तीन मैचों की सीरीज का आखिरी मुकाबला इंदौर में खेला गया। जहां टीम इंडिया ने पहले बल्लेबाजी करते हुए न्यूजीलैंड के सामने 386 रनों का बड़ा लक्ष्य रखा था। वही मेहमान टीम इस लक्ष्य को हासिल करने में नाकामयाब साबित हुई और 295 रनों पर ही सिमट कर रह गई.

जिसके चलते भारत ने इस मुकाबले को 90 रनों के बड़े अंतर से अपने नाम कर दिया और सीरीज पर 3-0 से अपना कब्जा जमाया है। हालांकि भारत की जीत के बाद न्यूजीलैंड के कप्तान बुरी तरीके से बनाते हुए दिखाई दिए हैं और उन्होंने हार के बाद अपनी प्रतिक्रिया दी है।

सीरीज हारने के बाद टॉम लेंथम का बड़ा बयान

भारतीय टीम के खिलाफ खेली तीन मैचों की वनडे सीरीज में न्यूजीलैंड की टीम एक भी मुकाबला जीतने में नाकामयाब साबित हुई वहीं तीसरे मुकाबले में भी न्यूजीलैंड के बल्लेबाजों ने बुरी तरह निराश किया और भारतीय गेंदबाजों ने अपना दम दिखाते हुए बल्लेबाजों को पवेलियन का रास्ता दिखाया जिस पर न्यूजीलैंड के कप्तान ने अपने बल्लेबाजों पर अपनी भड़ास निकाली है। और कहां है कि

”मुझे लगता है कि गेंद से शुरुआत अच्छी नहीं रही. शानदार साझेदारी रही लेकिन हमने भारत को 380 पर वापस खींच लिया. लक्ष्य का पीछा करने में हम अच्छी स्थिति में थे, लेकिन हमने बहुत से विकेट खो दिए.

वर्ल्ड कप से पहले यह आखरी अनुभव

न्यूजीलैंड टीम के कप्तान यहीं नहीं रुके उन्होंने अपने बयान को आगे बढ़ाया और कहा किवर्ल्ड कप से पहले यह हमारा आखिरी अनुभव है, इसलिए हमें एक आइडिया आया है. हम गहराई बनाना चाहते थे और यह सभी के लिए बहुत अच्छा अनुभव रहा है. जितना अधिक आप इन स्थितियों में होते हैं, उतना ही अधिक आप सीखते हैं.”

90 रनों के बड़े अंतर से हारी न्यूजीलैंड

इस मुकाबले की शुरुआत न्यूजीलैंड टीम के लिए कुछ खास नहीं रहे। पहले ओवर में जहां टीम के खिलाड़ी फिन ऐलन शून्य पर अपना विकेट गंवा बैठे हैं तो वहीं दूसरे विकेट के लिए 100 रनों से ऊपर की साझेदारी हुई। डिवॉन ने भी अच्छी बल्लेबाजी की और 138 रनों का योगदान टीम के लिए दिया।

लेकिन वो टीम को जीत की दहलीज तक पहुंचाने में नाकामयाब साबित हुए। वहीं टीम के कप्तान की अगर बात करें तो वह भी बिना खाता खोले ही अपना विकेट गंवा बैठे। जबकि हेनरी ने इस मुकाबले के लिए 42 रनों की पारी खेली इसके अलावा कोई अन्य बल्लेबाज 30 रनों का आंकड़ा पार नहीं कर पाया।

admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *