जब श्रीदेवी नहीं देती थी बोनी कपूर को जरा भी भाव ,बॉलीवुड की चांदनी को अपना बनाने के लिए बोनी को करने पड़े थे खूब जतन

जब श्रीदेवी नहीं देती थी बोनी कपूर को जरा भी भाव ,बॉलीवुड की चांदनी को अपना बनाने के लिए बोनी को करने पड़े थे खूब जतन

11 नवंबर, 1955 को जन्मे बोनी कपूर आज हमारे हिंदी फिल्म जगत के कुछ बेहद सफल निर्माता निर्देशकों में शामिल है, जिनका फिल्मी दुनिया में सफर वाकई बेहद शानदार रहा है और अपने कैरियर के साथ-साथ उन्होंने अपने भाई अनिल कपूर और संजय कपूर के कैरियर को भी निखारने में काफी अहम योगदान दिया है|

बोनी कपूर की बात करें तो, बॉलीवुड के मशहूर ये निर्माता-निर्देशक आज 11 नवंबर, 2022 की तारीख को अपना 67वां जन्मदिन सेलिब्रेट कर रहे हैं, और ऐसे में आज हम आपको इनके जन्मदिन के इस खास मौके पर उनकी पर्सनल लाइफ से जुड़ी कुछ ऐसी अहम बातों से रूबरू कराने जा रहे हैं, जिन्हें जानने के बाद आप इस बात का आसानी से अंदाजा लगा सकते हैं कि अपने प्रोफेशनल लाइफ में इतनी सफलता और लोकप्रियता हासिल करने के बावजूद बोनी कपूर क्यों अपनी पर्सनल लाइफ में थोड़े असफल रहे और उन्हें उतार चढ़ाव भरे पलों से भी गुजरना पड़ा|

यह बात तो हम सभी को पता है कि बोनी कपूर ने बॉलीवुड की सुपरस्टार एक्ट्रेस श्रीदेवी संग शादी रचाई थी, लेकिन अगर उनकी लव स्टोरी की बात करें तो यह भी किसी फिल्मी कहानी से कम नहीं है|

ऐसे हुई श्रीदेवी से पहली मुलाकात: यह बात उस वक्त की है जब बोनी कपूर ने श्रीदेवी को फिल्म सोलहवां सावन के सेट पर देखा था, और पहली नजर पर वह अभिनेत्री की खूबसूरती पर दिल हार बैठे थे| इसके बाद वह अपने भाई अनिल कपूर की फिल्म मिस्टर इंडिया में भी श्रीदेवी को कास्ट करना चाहते थे, लेकिन उन दिनों श्रीदेवी के मन में बोनी कपूर के लिए कोई भी आकर्षण नहीं था| इस बात का खुलासा खुद बोनी कपूर ने मीडिया से हुई एक बातचीत में किया था|

श्रीदेवी की मां ने रखी भारी-भरकम फीस की मांग: बोनी कपूर ने बताया कि वह हर हाल में अपनी फिल्म मिस्टर इंडिया में श्रीदेवी को कास्ट करना चाहते थे, पर उन तक पहुंचने का दरिया नहीं मिल पा रहा था| ऐसे में उन्होंने खुद दिमाग लगाकर श्रीदेवी की मां से मुलाकात की और श्रीदेवी के लिए यह फिल्म ऑफर की| उस वक्त श्रीदेवी की मां ने इस फिल्म के लिए पूरे 10 लाख रुपए फीस मांगी, जो उस वक्त एक बहुत ही बड़ी रकम थी| लेकिन, उनसे भी एक कदम आगे बोनी कपूर तो 11 लाख की फीस पर राजी हो गए|

बोनी कपूर की मेहनत रंग लाई: इस सब के कुछ समय बाद श्रीदेवी की मां बहुत बीमार थी और बोनी कपूर उस मुश्किल वक्त में श्रीदेवी का सहारा बने| कुछ समय बाद श्रीदेवी की मां हमेशा के लिए इस दुनिया को अलविदा कह गए, जिसके बाद बोनी कपूर ने श्रीदेवी को इमोशनल सपोर्ट भी दिया, जिसके बाद दोनों के बीच नजदीकियों की शुरुआत हुई और फिर बोनी कपूर के प्रपोजल को एक्सेप्ट कर के श्रीदेवी ने उनके साथ शादी कर ली, जिसके बाद बोनी कपूर को अपनी पहली पत्नी मोना को तलाक देना पड़ा|

बोनी का साथ जीवन भर नहीं निभा पाईं श्रीदेवी: हालांकि, बीते साल 2018 में हुए एक आकस्मिक हादसे के दौरान श्रीदेवी भी हमेशा के लिए इस दुनिया को अलविदा कह गई, जिस वजह से बोनी कपूर के लिए श्रीदेवी के साथ अपनी जिंदगी गुजारने का सपना अधूरा ही रह गया|

admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *