IND vs SL: हेड कोच के बाद कप्तान हार्दिक ने भी दिए संकेत, टी20 टीम से इन 2 दिगाजों का बाहर होना तय!

IND vs SL: हेड कोच के बाद कप्तान हार्दिक ने भी दिए संकेत, टी20 टीम से इन 2 दिगाजों का बाहर होना तय!

भारत और श्रीलंका के बीच खेली गई तीन मैचों की टी-20 सीरीज बीते शनिवार को समाप्त हो चुकी है इसका अंतिम मुकाबला राजकोट में खेला गया था बता दें कि इस सीरीज की ट्रॉफी को भारतीय टीम ने 2-1 से अपने नाम कर लिया है। श्रीलंका के खिलाफ खेली गई इस टी-20 सीरीज में भारतीय युवा खिलाड़ियों का अहम योगदान रहा।

भारत और श्रीलंका के बीच खेली गई तीन मैचों की टी-20 सीरीज बीते शनिवार को समाप्त हो चुकी है। इसका अंतिम मुकाबला राजकोट में खेला गया था। बता दें कि, इस सीरीज की ट्रॉफी को भारतीय टीम ने 2-1 से अपने नाम कर लिया है। श्रीलंका के खिलाफ खेली गई इस टी-20 सीरीज में सीनियर खिलाड़ी जैसे रोहित शर्मा, विराट कोहली और केएल राहुल को आराम दिया गया था। उनकी गैरमौजूदगी में भारतीय युवा खिलाड़ियों ने इस सीरीज में अपना अहम योगदान दिया। श्रीलंका के खिलाफ खेली गई इस सीरीज में तीन खिलाड़ियों ने अपना डेब्यू किया।

टी 20 से रोहित शर्मा और विराट कोहली हो सकते है बहार: श्रीलंका के खिलाफ सीरीज में विजय हासिल करने और युवा खिलाड़ियों के अच्छे प्रदर्शन के बाद ऐसा लग रहा है कि टी 20 से रोहित शर्मा और विराट कोहली को बाहर कर सकते हैं। इस बात का संकेत कुछ दिन पहले टीम के हेड कोच राहुल द्रविड़ ने भी दिए थे उसके साथ अब हार्दिक पांड्या ने भी इसी बात का संकेत देते हुए एक बड़ी बात कही।

श्रीलंका के खिलाफ खेली गई टी 20 सीरीज की कप्तानी हार्दिक पांड्या कर रहे थे। हार्दिक पांड्या के नेतृत्व में भारतीय टीम ने एक नए युग की शुरुआत की है इस सीरीज में जीत हासिल करने के बाद हार्दिक पांड्या ने कहा कि,

‘‘यह वास्तव में उतना मुश्किल नहीं है। मेरे लिए चीजें काफी आसान हो जाती हैं जब अनुभवी खिलाड़ी होते हैं, मैं उनसे ज्यादा कुछ नहीं कहता। वे इस स्तर पर खेल रहे हैं क्योंकि उन्होंने अपने जीवन में बहुत अच्छी चीजें की हैं।’’

युवा टीम को आगे बढ़ने का दिया आत्मविश्वास: हार्दिक पांड्या ने आगे कहा कि,

‘‘प्रबंधन मुश्किल नहीं है लेकिन हां, यह एक युवा टीम है। वे गलतियां करेंगे, वे इससे सीखेंगे। हमने इस पर जोर दिया है कि एक बार जब आप गलती करते हैं तो आप सुनिश्चित करें कि आप इससे सीखें। इसमें चीजों को स्वीकार करना बेहद महत्वपूर्ण है। यदि आप इसे स्वीकार नहीं करते तो फिर चीजें काफी मुश्किल हो जाती हैं। लेकिन जब एक युवा टीम होती है तो मैं सिर्फ उन्हें आत्मविश्वास देकर मदद कर सकता हूं। कैसे सुनिश्चित करें कि वे एक स्तर पर हैं, जब वे यहां खेल रहे हैं, तो उन्हें लगना चाहिए कि वे यहां खेलने के हकदार हैं।’’

admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *