‘धोनी के जितना नहीं मिला हमे सपोर्ट, सबकी इतनी अच्छी किम्सत नही…’ संन्यास लेने के कई सालों बाद छलका युवराज सिंह का दर्द!

‘धोनी के जितना नहीं मिला हमे सपोर्ट, सबकी इतनी अच्छी किम्सत नही…’ संन्यास लेने के कई सालों बाद छलका युवराज सिंह का दर्द!

भारतीय टीम के पूर्व स्टार ऑलराउंडर युवराज सिंह आज किसी पहचान के मोहताज नहीं हैं। उन्होंने अपने करियर में तमाम ऐसे रिकॉर्ड्स कायम किए हैं जिन्हें तोड़ पाना आज भी काफी मुश्किल है। बता दें कि पूर्व भारतीय दिग्गज युवराज सिंह और पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी की दोस्त किसी से छिपी नहीं है।

किसी ज़माने में धोनी और युवी दो जिस्म और एक जान हुआ करते थे। दोनों का याराना ड्रेसिंग रुम के बाहर भी देखने को मिलता था। धोनी और युवी ने साझेदारी में भारत को न जाने कितने मैचों में जीत हांसिल करवाई है। साल 2011 विश्व कप के दौरान जब युवराज ने 6 गेंदों पर 6 छक्कों की शानदार पारी खेली थी उस वक्त धोनी उनके साथ क्रीज़ पर खड़े हुए थे।

धोनी का करियर: वहीं, बात करें धोनी की तो उन्होंने टीम इंडिया को 2 बार विश्व विजेता बनाया। धोनी ने भारत के लिए 90 टेस्ट, 350 वनडे और 98 टी20 मैच खेले। साल 2020 में पूर्व भारतीय कप्तान ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास की घोषणा कर दी थी।

विराट ने किया था धोनी को सपोर्ट!: धोनी के करियर के आखिरी दिनों के विषय में बात करते हुए पूर्व हरफनमौला खिलाड़ी युवराज सिंह ने बड़ा बयान दिया है। उन्होंने दावा किया है कि धोनी को विराट कोहली और रवि शास्त्री ने काफी सपोर्ट किया था।

युवराज सिंह ने कहा कि,: “माही (एम एस धोनी) को देखो उन्हें उनके करियर के अंतिम पड़ाव पर काफी ज्यादा बैक किया गया था। उन्हें विराट कोहली और रवि शास्त्री की तरफ से बहुत ज्यादा सपोर्ट किया गया था। वो उन्हें वर्ल्ड कप खिलवाने भी ले गए थे। वो आखिरी तक खेलते रहे और उन्होंने 350 वनडे मैच भी खेले। मुझे लगता है कि किसी भी खिलाड़ी को बनाने के लिए सपोर्ट करना बेहद जरूरी है। लेकिन, भारतीय क्रिकेट में हर किसी को सपोर्ट नहीं मिलता।“

admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *